हिन्दू देवी देवता के नग्न चित्र बनाने वाले पदम विभूषण, मुहम्मद पर टिप्पड़ी करने मात्र पर जेल और हत्या दोनों यह कैसा न्याय हैं ?

कमलेश तिवारी डेथ :- कमलेश तिवारी मर्डर केस 

पुरे विश्व के इतिहासकार या विदेशी यात्री भारत के बारे में जो भी कहे या रोमिला थापर जैसे इतिहासकार कितना भी भारतीय इतिहास को वकृत क्यों न कर ले सही इतिहास को मिटाना नामुमकिन हैं। इतिहास सिर्फ यादे नहीं बल्कि पूर्वजो की आत्मा है और आत्मा तो नश्वर हैं जिसे कोई भी शस्त्र मार नहीं सकता नाही कोई आग उसे जला सकती हैं। इतिहास बार बार अपने आप को दुहराता हैं इतिहास ने कई इंद्र तो कई ब्रह्मा के जन्म और अंत का साक्षी है फिर ये चार कौड़ी के वामपंथी लीब्रान्डु इतिहासकार की क्या विसात की भारत जैसे राष्ट्र पुरुष के इतिहास को विकृत कर सके।  

kamlesh tiwari death
Kamlesh Tiwari


हजारो सालो के गुलामी का परिणाम हैं की भारतीय अपनी संस्कृति से बहुत हद तक कट चुके हैं साथ ही हजारो सालो के गुलामी का ही परिणाम हैं की कई मल्लेछ राक्षस, मानव का नकाब पहने हमारे देश में रह गए और उन्ही मल्लेछों का परिणाम हैं की रोमिला थापर जैसे इतिहासकार और जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) जैसी अशिक्षा व्यवस्था आज फल फूल रहा हैं और भारत के छाती पर रहके, भारत का अन्न खाके भारत के हजारो टुकड़े होंगे ऐसी कामना करते हैं।  

जब मै भारतीय संस्कृति की बात करता हूँ तो मै सिर्फ और सिर्फ हिन्दू संस्कृति या सनातन धर्म या वैदिक धर्म की बात करता हूँ क्युकी बिन हिन्दू, भारत देश का कोई अस्तित्व नहीं और बिन भारत, हिंन्दुओ का कोई अस्तित्व नहीं। भारत मूल रूप से हिन्दू राष्ट्र हैं और रहेगा सविधान से सर्टीफिकेट की आवश्यकता नहीं।  पुरे दुनिया में मुख्य रिलिजन ईसाइयो के लगभग 60 से ज्यादा देश तो मुस्लिमो के लगभग 76 से ज्यादा देश लेकिन हिन्दू का कितना देश? 

पुरे विश्व में सबसे पहले प्रेम, शांति का पाठ पढ़ाने वाले हिन्दू आज तक कभी विस्तारवादी सोच के नहीं रहे आज तक भारत देश ने लाखो साल के इतिहास में कभी भी पहले किसी भी देश पर हमला नहीं किया हैं। हम लोग तो अतिथि देवो भवः के विचारधारा वाले लोग हैं। हमें इस दुनिया के कण कण में हर जिव प्राणी मात्र में अपने भगवान् का दर्शन होता हैं और इसी कारण हमने अपने घर भारत में दुसरो को भी रहने और जीवन बिताने का जगह दिया। 

उन साथ में रहने वालो ने हमारे संस्कृति के विरुद्ध मांसाहार किया, मदपान किया, हमारे भी कई भाई बहनो को अपने जैसा बना दिया, उनका धर्म से अधर्म में परिवर्तन करा दिया, भेड़-बकरियों जैसा बच्चा पैदा कर रहा हैं खुलेयाम गजवा हिन्द के विचारधारा की वजह से,  हमारी गौ माता को भी काटा, हमारे मंदिर तोड़े फिर भी हमने रहने दया किया, सब्र किया यहाँ तक की मुहम्मद एफ हुसैन द्वारा हमारे देवी देवताओ के नग्न चित्र बना दिया गया और उसको सर्कार द्वारा पद्मविभूषण जैसा उच्च सम्मान से सम्मान्नित किया गया हमने तब भी बर्दास्त किया लेकिन जब हमारे में से कोई हिन्दू कमलेश तिवारी जी ने मुहम्मद पर टिप्पड़ी क्या कर दी पहले उनको रासुका के तहत जेल में डाला गया फिर द्वारा उनके घर में घुस कर उनका गला रेत दिया गया। आखिर कब तक हम हिन्दू प्रेम, शांति की वजह से ऐसे ही मरते रहेंगे ?
 
आखिर क्यों जिस तरह मजहब का जनसँख्या बढ़ रहा हैं हिन्दुओ को अपने देश में ही रहना दूभर हो गया हैं। हमसे ईरान छीन लिया, हमसे इराक छीन लिया, हमसे अफगानिस्तान छीन लिया, हमसे पकिस्तान छीन लिया, हमसे बांग्लादेश छीन लिया, कश्मीर में मुस्लिमो की जनसँख्या बढ़ते ही वहाँ से लाखो कश्मीरी हिन्दुओ को मार-काट के हत्या करके, हजारो हिन्दू बहनो बेटियों की आबरु लूट के भगा दिया गया, वो लोग आज भी देश के कई जगह रेलवे किनारे रहने को मजबूर हैं। बंगाल केरल में मुस्लिमो की जनसँख्या बढ़ते ही दिन बीतता नहीं हैं की कोई न कोई हिन्दू की या उसके पुरे परिवार की निर्मम हत्या हो जाती हैं। यदि इसी तरह चलता रहा तो सोचिये आखिर कितने दिन यह भारत बचेगा या हिन्दू बचेंगे।

योगीनाथ जैसे वीर हिन्दू नेता के सर्कार वाले राज्य में भी खुलेयाम दिनदहाड़े हिन्दुओ की हत्या मुस्लिमो यह सोचनीय विषय हैं। इस पर विचार होनी चाहिए भविष्य की योजनाओ को बनाने समय इन हत्याओं को ध्यान में रखना अति आवश्यक हो गया हैं। कमलेश तिवारी जी की हत्या हिन्दुओ के अपने ही घर में सुरक्षा पर बहुत बड़ा प्रश्न खड़ा कर रही हैं।  

कौन था पैगम्बर मुहम्मद ?

मुसलमान मजहब मुहम्मद से पहले नहीं था आज से लगभग 14 सौ साल पहले मुहम्मद नाम के व्यक्ति की वजह से आज सिर्फ अल्लाह को ही भगवान् मानाने वाले लोग पुरे दुनिया में सबसे ज्यादा हैं। मुसलमान या लिंगच्छेदी मुसलभेदी जैसे शब्द हिन्दू के भविष्यपुराण में भी मिलता हैं जिसकी व्याख्या कई विद्वान् मुसलमानो के सम्बन्ध में ही करते हैं की ये सभी शब्द या श्लोक भविष्य पुराण में मुसलमानो के बारे में ही कही गई हैं। मुसलमान मजहब में मुहम्मद को अल्लाह के बाद सबसे ज्यादा माना जाता हैं मुहम्मद पर टिप्पड़ी करने मात्र से पुरे दुनिया में अब तक हजारो लोगो की ह्त्या मुस्लिमो ने कर दी हैं। आइये मुहम्मद से जुडी कुछ अनजान बाते जानते हैं 

मुहम्मद की पहली शादी 54 साल के वृद्ध के साथ हुई थी। 

मुहम्मद ने ही सबसे पहले अपने समर्थको के दम पर मक्का मदीना के मूर्तियों को ध्वस्त कर उसे मस्जिद बनाया। 

मुहम्मद को कुछ लोग चाइल्ड रेपिस्ट भी कहते क्युकी उसने 9 साल की नाबालिग लड़की जो उसके ही मित्र अबू बकर की बेटी थी के साथ जबरदस्ती निकाह के नाम पर सम्बन्ध बनाया था। 

मुस्लिमो का क़िताब जिसे वो अल्लाह का किताब मानते हैं दरअसल मुहम्मद और उसके सहयोगियों द्वारा लिखित एक आदेश पुस्तिका हैं जिसमे मुसलमानो के लिए नियम लिखे हैं उसमे भी कई बार फेरबदल हो चूका हैं।  

मुहम्मद के जीवनी की कहानी हदीस नामक संग्रह में मिलती हैं। और मैं एक एक करके सभी कुकर्मो की कहानी अपने ब्लॉग पर लिखूंगा देखता हु कितने गर्दन ये काटते हैं।   

सिर्फ सगी बहन और सगी माँ को छोड़ कर किसी भी औरत के साथ निकाह की इजाजत मुहम्मद ने ही दी। 

ससुर अपने पतोह के साथ या कोई भी सम्बन्धी किसी भी महिला सम्बन्धी के साथ सम्बन्ध कैसे बना सके इसके भी मार्ग बड़ी चतुराई से मुहम्मद साहब ने निकाला है इस मार्ग को हलाला मार्ग कहते हैं। क्रमशः.... 

हिन्दुओ के भविष्य पुराण में  मुहम्मद को त्रिपासुर राक्षस का पुनर्जन्म बताया गया हैं। अब चाइल्ड रेपिस्ट को चाइल्ड रेपिस्ट न कहा जाए तो क्या कहा जाए और चलिए क्या अल्लाह इतना कमजोर हैं की उनको अपनी सुरक्षा के लिए मुसलमानो का साथ चाहिए। 

हिन्दू हृदय सम्राट कमलेश तिवारी जी का घर में घुस कर गला काट देना या बंगाल के बंधू परिवार की निर्मम हत्या कर देना हर दिन कोई न कोई माँ की गोद ये मुल्ले मौलवी सुनी तर रहे हैं अब पानी सर से ऊपर निकल रहा हैं हम हिन्दू कब तक हाथ पर हाथ धरे रहेंगे। हमसे सब कुछ चीन लिया जा रहा हैं इन मुल्लो के वोट बैंक की राजनीति के कारन और मर भी हम ही रहे हैं। इन सुवरो के बचाव के लिए रात बारह बजे सुप्रीम कोर्ट खुल जाता हैं और हिन्दू अपने घरो में भी डर डर कर जी रहा हैं।

पुरे विश्व में दो कार्य अति महत्वपूर्ण हैं पर्यावरण की सुरक्षा और इस्लामिक विचारधारा का खात्मा  इस्लामिक विचार ने मुहम्मद पर टिप्पड़ी करने की वजह से या अल्लाह के नाम पर अब तक पुरे दुनिया में अरबो खरबो लोगो की हत्या हो चुकी हैं साथ ही हजारो संस्कृति, सभ्यता, भाषाएँ, परम्पराएँ, रहन-सहन, कई धर्म, कई देश सब ख़त्म हो चुके है। वो तो हमारे पूर्वज भगवान् थे की हम बचे है लेकिन आखिर कब तक?


5 arrested in kamlesh tiwari murder case. kamlesh tiwari death, hindu swarajya party, hindu, kamlesh tiwari in hindi, aajtak, indianews 

हिन्दू देवी देवता के नग्न चित्र बनाने वाले पदम विभूषण, मुहम्मद पर टिप्पड़ी करने मात्र पर जेल और हत्या दोनों यह कैसा न्याय हैं ? हिन्दू देवी देवता के नग्न चित्र बनाने वाले पदम विभूषण, मुहम्मद पर टिप्पड़ी करने मात्र पर जेल और हत्या दोनों यह कैसा न्याय हैं ? Reviewed by गुरूजी इन हिंदी on October 19, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.