2019 में विश्व की 10 सबसे ताकतवर आर्मी वाला देश।

विश्व में सभी देश अपने नागरिको की सुरक्षा अपने देश कि सीमा के सुरक्षा के लिए दिन रात युद्ध स्तर से अपने सैन्य क्षमता में विकास करते रहते हैं। शिक्षा पद्धति के कमी के कारण विश्व के कई देश दूसरे देशो के लिए खतरा बनते जा रहे हैं। मारक क्षमता के हिसाब से हमने आपके लिए विश्व के सबसे १० शक्तिशाली देश की सूचि ले कर उपस्थित हैं।
Super Power; United Stats of America
Super Power; United Stats of America


1 - अमेरिका 
:- निःसंदेह आज के समय में विश्व के सबसे शक्तिशाली देशो में की सूचि में अमेरिका ने सबसे पहला पायदान पर अपने आप को रखने में सफल हैं। सबसे ज्यादा शक्तिशाली होने के साथ सबसे विकसित देश भी अमेरिका हैं। अमेरिका का कुल जनसँख्या 323,995,528 हैं।अमेरिका के कुल सैनिकों की संख्या 2,363,675 हैं।  13 हजार से ज्यादा एयरक्राफ्ट है जिसमे से 2296 लड़ाकू विमान हैं। जो की पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा हैं। कुल टैंकों की संख्या 6 हजार हैं। विश्व में सबसे अधिक रक्षा बजट लगभग 587 बिलियन डॉलर अमेरिका का ही जो अमेरिका के आर्मी को दुनिया का सबसे ताकतवर देश बनती हैं। 



Russian Flag
Russian Flag

2 - रूस :- यदि पूरी दुनिया में अमेरिका के बाद मजबूत आर्मी किसी देश की है तो वह हैं रूस। एशिया के उत्तरी भाग में स्थित यह देश सिर्फ एशिया का ही नहीं बल्कि पुरे विश्व का क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे बड़ा देश हैं। इसकी जनसँख्या 142,355,415 हैं। वही कुल सैनिको की संख्या 3,371,027 हैं। लगभग 4 हजार एयरक्राफ्ट हैं जिनमे से 806 लड़ाकू विमान हैं। दुनिया में सबसे ज्यादा टैंक रूस के पास हैं जिनकी संख्या लगभग 20 हजार टैंक से भी ज्यादा हैं।रूस का रक्षा बजट अमेरिका के अपेक्षा बहुत कम लगभग 45 बिलियन डॉलर है। अत्यधिक संख्या में परमाणु हथियार और हाइड्रोजन बम्ब रूस को दूसरा सबसे ताकतवर देश बनाता हैं। 




Republic Of China
Republic Of China 

3 - चीन :- बात ताकत की हो और उस सूचि में चीन का नाम ना हो ऐसा असंभव हैं। दुनिया की सबसे ज्यादा जनसंख्या 1,373,541,278 वाला देश सैनिको की संख्या में भी भारत के बाद दूसरा सबसे बड़ा देश हैं। चीन के कुल सैनिको की संख्या 3,712,500 हैं। चीन के पास कुल एयरक्राफ्ट की संख्या 2,955 जिनमे से 1271 लड़ाकू विमान हैं। कॉम्बैट टैंकों की संख्या 6,457 है साथ ही चीन का रक्षा बजट 161 बिलियन डॉलर हैं  जो चीन को विश्व का तीसरा सबसे ताकतवर देश बनाता हैं। 






सारे जहाँ से अच्छा हिन्दुस्तान हमारा
सारे जहाँ से अच्छा हिन्दुस्तान हमारा 

4 - भारत :- हजारो साल पहले विश्व गुरु और सोने की चिड़िया कहलाने वाला भारत अपनी आत्मरक्षा हेतु पुरे विश्व में अपने युद्ध के कौशल के लिए मशहूर हैं। इतिहास के पन्नो पर दर्ज हैं की भारतीय फ़ौज का नाम सुनते ही कई देश के सैनिक पहले ही हार मान लेते थे। कभी अमेरिका जैसा सुपरपावर रह चूका भारत हजारो सालो की गुलामी को सहता हुआ अब उठ खड़ा हुआ हैं और पुरे विश्व में ताकत के दृष्टि में सम्मानजनक चौथा स्थान कायम करने में सफल हुआ। विश्व की दूसरी सबसे ज्यादा जनसँख्या 1,266,883,598 वाला यह देश सैनिको की संख्या के मामले में सबका बॉस हैं।  भारत के कुल सैनिको की संख्या 4,207,250 हैं। भारत के पास कुल एयरक्राफ्ट की संख्या 2,102 जिनमे से 750  लड़ाकू विमान हैं। कॉम्बैट टैंको की संख्या 4,426 हैं। भारत का रक्षा बजट लगभग 51 बिलियन डॉलर हैं।  



France
France 

5 - फ्राँस :-  फ्राँस यूरोप का सबसे शक्तिशाली देश होने के साथ साथ विश्व का पाँचवा सबसे ताकतवर देश भी हैं।  अपने जनसँख्या और क्षेत्रफल के हिसाब से पुरे विश्व में अमेरिका रूसिया जैसे देशो के साथ सूचि में सम्मिलित होना फ्रेंच लोगो के लिए गर्व की बात हैं। फ्राँस  जनसँख्या 66,836,154 हैं जिनमे कुल सैनिको की संख्या 387,635 हैं। फ्राँस के पास कुल ऐरक्राफ्टों की सँख्या 1,305 हैं जिनमे से लड़ाकू विमान की सँख्या लगभग 296 के बराबर हैं। फ्रांस के पास कॉम्बैट टैंक की संख्या 406 हैं। फ्रांस का रक्षा बजट 35 बिलियन डॉलर हैं। 




6 - इंगलैंड :-  एक समय ऐसा था की ब्रिटिश राज में कभी सूरज नहीं डूबता था अमेरिका भारत से लेकर ऑस्ट्रेलिया तक ब्रिटेन के उपनिवेश थे द्वितीय विश्व युद्ध के बाद ब्रिटिश राज के सीमाएं सिमित होने लगी और इंगलैंड आज पहले से 6 स्थान पर पहुँच गया हैं। फिर भी पुरे यूरोप में फ्रांस के बाद आज भी इंग्लैंड दूसरा सबसे शक्तिशाली देश हैं। इंगलैंड की जनसँख्या लगभग 64,430,428 हैं जिसमे से कुल सैनिकों सँख्या 232,675 हैं। कुल एयरक्राफ्ट की सँख्या 856 जिनमे लड़ाकू विमान की संख्या 88 हैं। वही कॉम्बैट टैंक की संख्या 246  आसपास हैं। इंग्लैंड अपने रक्षा बजट पर फ्रांस से ज्यादा खर्च करता हैं। इंग्लैंड का रक्षा बजट 46 बिलियन डॉलर हैं। 



zapan 

7 -जापान :-  द्वितीय विश्व युद्ध में हिरोशिमा नागासाकी क्षेत्र में परमाणु बम का देश झेलने के बाद भी जापान जैसा छोटा देश विश्व के सबसे शक्तिशाली देशो में सुमार हैं तो यह जापान के नागरिको का ईमानदारी कठिन परिश्रम और देशप्रेम से ही संभव हो पाया हैं पुरे विश्व में सबसे पहले सूरज की रौशनी जापान में ही पड़ती हैं।  जापान की जनसँख्या 126,702,133 हैं जिसमे से कुल सैनिको की संख्या 311,875 हैं। जापान के पास कुल 1,594 एयरक्राफ्ट हैं जिनमे से लड़ाकू विमानो की सँख्या 288 हैं। वही 700 कॉम्बैट टैंक हैं। जापान  बजट पर कुल 44 बिलियन डॉलर खर्च करता हैं। 




turky 

8- टर्की :- लगभग 50 से ज्यादा मुस्लिम देश पुरे विश्व में हैं जिनमे से सिर्फ टर्की ही एक अकेला मुस्लिम देश हैं जो मुस्लिम कट्टरता से रूढ़िवादी सोच से बचाया हैं जिस कारण सबसे शक्तिशाली मुस्लिम देश बन चूका हैं। खुबशुरत शहर इंस्ताबुल टर्की की राजधानी हैं।  टर्की की कुल जनसँख्या 80,274,604 जिनमे लगभग 743,415 सैनिक हैं। टर्की के पास कुल 1018 एयरक्राफ्ट हैं। जिनमे से 207 लड़ाकू विमान हैं। कॉम्बैट टैंक की संख्या 2,445 हैं। टर्की अपने रक्षा बजट पर लगभग 9 बिलियन डॉलर खर्च करता हैं। 





9- जर्मनी :- प्रसिद्ध अडोल्फ हिटलर का देश जिन्होंने जर्मनवासियो को एक किया दूसरे विश्व युद्ध के जनक कहे जाने वाले हिटलर को ब्रिटेन समर्थित इतिहासकारो ने  अपने क्रूरता को छिपाने के तानाशाह घोषित कर दिया। जर्मनी की कुल जनसँख्या 80,722,792 हैं जिसमे से कुल सैनिकों की सँख्या 210,000 हैं। कुल एयरक्राफ्ट की संख्या 698 हैं जिनमे से 92 लड़ाकू एयरक्राफ्ट हैं। कॉम्बैट टैंकों की सँख्या 543 हैं। जर्मनी का रक्षा बजट 40 बिलियन डॉलर हैं। 



10- इजिप्ट :-  अपने पिरामिडों और गौरवशाली इतिहास के चलते ईजिप्ट पुरे विश्व में प्रसिद्ध हैं।  इजिप्ट को भारत में मिश्र भी कहते हैं। ऐतिहासिक विरासत के अलावा इजिप्ट की आर्मी पावर भी पुरे विश्व में 10 वे नम्बर हैं। इजिप्ट की कुल जनसँख्या 94,666,993 हैं जिनमे से कुल सैनिकों की सँख्या 1,329,250 हैं। कुल एयरक्राफ्ट की सँख्या लगभग 1,132 जिनमेंसे लड़ाकू विमान की सँख्या 337 हैं। 4,110 कॉम्बैट टैंक रखने वाला इजिप्ट अपने रक्षा बजट पर कुल 5 बिलियन डॉलर खर्च करता हैं।  



Post a Comment

0 Comments