Holi Story 2020: Holi Essay In Hindi होली की कहानी और रोचक तथ्य

Holi Story 2020: Holi Essay In Hindi
Holi Story 2020: Holi Essay In Hindi
Holi Essay In Hindi - Holi Story 2020: होली की कहानी और रोचक तथ्य. पुरे वर्ष भर भारत देश में हिन्दू धर्म के लोग कई धार्मिक त्यौहार मनाते हैं, उन्ही पर्वों में से एक प्रमुख पर्व होली हैं. तो चलिए आज Holi Essay In Hindi में होली क्यों मनायी जाती हैं ? इसके पीछे क्या Holi Story हैं ? कैसे मनाया जाता हैं ? क्या पकवान बनाये जाते हैं ? आदि होली से जुड़ी सभी रोचक जानकारियाँ आपको इस पोस्ट में पढ़ने को मिल जाएँगी.

हिन्दू धर्म के सभी त्योंहारों का एक विशेष प्रयोजन होता हैं. इन उत्सवों का यही लक्ष्य हैं की समाज में मानवता को बढ़ावा मिले. लोगो के बिच में आपसी प्रेम और सौहार्द का वातावरण बने साथ ही आने वाली भावी पीढ़ी को अपनी संस्कृति, परम्परा और सभी जिव-जंतु और पर्यावरण के संरक्षण और संवर्धन करने की सिख और प्रेरणा मिले. Holi Story 2020, Holi Story 2020.


भारतीय त्यौहार इतने सुन्दर और आनंदायक होते हैं की प्रत्येक साल इन त्योहारों को देखने के लिए पुरे विश्व भर से विदेशी पर्यटक भारत खींचे चले आते हैं. दीपावली के बाद होली सबसे ज्यादा उमंग और मनोरंजन से भरा त्यौहार हैं. होली को पुरे भारत में विभिन्न जगह विभिन्न नामो और तरीको से जाना और मनाया जाता हैं. इसे कही लट्ठमार होली, तो कही रंगपंचमी के नाम से जाना जाता हैं. मथुरा, वृन्दावन, ब्रज, नंदगाँव और गोकुल की होली पुरे भारत में एक विशेष आकर्षण का केंद्र होती हैं. यहाँ प्रसिद्ध लट्ठमार होली देखने दूर-दूर से पर्यटक आते हैं.



Holi Story 2020:- Holi Essay In Hindi ?

रंगो के त्यौहार को होली कहा जाता हैं. समूचे भारत के साथ-साथ देश-विदेश में भी होली का त्यौहार बड़े ही धूम-धाम और हर्षोउल्लाष के साथ मनाया जाता हैं. जैसा की प्रत्येक त्यौहार या पर्व के पीछे कोई-न-कोई इतिहास या विज्ञान रहता ही हैं. आज हम अपने इस लेख में रंगों के त्यौहार होली की चर्चा करंगे.

प्राचीन समय से ही असत्य पर सत्य के विजय के रूप में होली पर्व को मनाया जा रहा हैं. होली पर्व मनाने के पीछे एक बहुत ही मार्मिक कहानी सुनने को मिलती हैं. महान विष्णु भक्त प्रह्ललाद के जीवन से जुडी यह कहानी बहुत ही शिक्षाप्रद और प्रेरणा दायी हैं. प्रह्लाद के पिताजी एक क्रूर राक्षस जिसने अपनी बहन होलिका को प्रह्ललाद को विष्णु की भक्ति करने के कारन आग में जलाने को कहा. Holi Story 2020: Why Holi is Celebrated ? Holi Essay In Hindi.

लेकिन ईश्वर भक्ति के कारण प्रह्लाद जीवित बच गए और होलिका जल गई. इसी धर्म की अधर्म पर विजय की याद में हर वर्ष हिन्दू, बौद्ध, सिख, जैन समुदाय के लोग होली उत्सव को खूब रंग-बिरंगे रंग एक दूसरे को लगाकर मनाते हैं. साथ ही आपस में तरह-तरह के पकवान का भी वितरण करते हैं। इस लेख में हम विस्तार से इस कहानी की भी चर्चा आगे करेंगे.


होलिका के नाम से ही इस पर्व का नाम होली पड़ा. होली पर्व के अवसर पर होलिका का मूर्ति बनाकर उसका दहन करने की या जलाने की परम्परा पुरे भारत में रहती हैं. होली से एक दिन पहले शाम के समय में होलिका दहन किया जाता हैं.

Why Holi is Celebrated ? - होली की कहानी
                                                         Why Holi is Celebrated ? - होली की कहानी

Why Holi is Celebrated ? - होली की कहानी

मकर संक्रांति, विजयादशमी, दीपावली, नवरात्र आदि जैसे प्रमुख त्योंहारों की तरह ही भारत में होली का त्यौहार भी प्रत्येक वर्ष खूब धूम-धाम के साथ मनाया जाता हैं. प्रायः प्रत्येक पर्व के पीछे कोई-न-कोई पौराणिक कहानी अवश्य जुड़ी रहती हैं और उस त्यौहार को क्यों मनाया जाता हैं क्या विधि हैं? क्या लाभ हैं? ये सभी जानकारी हमें उसी पौराणिक कहानी और हिन्दू शास्त्रों से होती हैं.  Holi Story 2020.

ठीक इसी तरह होली पर्व को मनाने के पीछे भी एक बहुत ही प्रसिद्ध धार्मिक कहानी हैं. आइये विस्तार से उस कहानी पर एक नजर डालते हैं.


प्राचीन समय की बात हैं एक बहुत ही शक्तिशाली और बलवान राक्षस राज था. उसका नाम हिरण्यकश्यप था. उसने कड़ी तपस्या करके ब्रह्मा जी से किसी भी मनुष्य द्वारा या धरती पर या आकाश में या पाताल में कभी नहीं मरने का वरदान प्राप्त कर लिया था. इसके साथ ही अनेक प्रकार के अस्त्र-शस्त्र भी उसके पास थे साथ राक्षसों की एक बहुत ही विशाल सेना भी उसके साथ थी. 

ब्रह्मा जी द्वारा मिले इन वरदान के शक्ति में वह अहंकारी और बहुत क्रूर हो गया. अहंकार के वशीभूत होकर वह स्वयं को ईश्वर मानने लगा तथा दुसरो को भी उसे ईश्वर मानने पर विवश करने लगा. उसने अपने सम्पूर्ण राज्य में मंदिर बनवाये और उसमे अपनी मूर्तियाँ बनवाई और लोगो को अपनी पूजा करने का आदेश भी दिया. उसके राज्य में उसे छोड़कर कोई भी किसी दूसरे देवता की पूजा करता तो उसे जान से हाथ धोना पड़ता था. Holi Story 2020.


Holi Story 2020: होलिका दहन 

उस राक्षस राज का एक बहुत ही सुन्दर पुत्र था. जिसका नाम प्रह्ललाद था. प्रह्ललाद भगवान् विष्णु के बहुत ही अनन्य भक्त थे. वे हमेशा भगवान् विष्णु जी की पूजा/अर्चना में रत रहते थे. यह देखकर हिरण्यकश्यप को बहुत क्रोध आया. उसने अपने पुत्र को  समझाया लेकिन प्रह्लाद तो सत्य जानते थे. उन्होंने भगवान् विष्णु की पूजा नहीं छोड़ने का निर्णय लिया. Holi Story 2020.

प्रह्लाद के इस निर्णय से हिरण्यकश्यप का क्रोध और बढ़ गया और उसने अपनी बहन होलिका को बुलाया. होलिका ने  तपस्या करके आग से कभी न जलने का वरदान प्राप्त कर लिया था. हिरण्यकश्यप ने अपनी बहन होलिका को आज्ञा दिया की अपने भतीजे प्रहलाद को लेकर अग्नि में प्रवेश कर जाए जिससे कि प्रहलाद जल कर मर जाए और विष्णुजी भक्ति करना छोड़ दे.  Holi Story 2020.


होलिका ने अपने भाई कि आज्ञा मानकर प्रहलाद को लेकर धधकती अग्नि में प्रवेश कर गई लेकिन यह तो चमत्कार हो गया. अग्नि से कभी न जलने का वरदान होलिका के अधर्म करने के कारन नष्ट हो गया और वो उसी आग में जल के भष्म हो गई और भगवान् विष्णु के परम भक्त जिन्हे कोई वरदान नहीं मिला था अग्नि उनके शरीर को छू भी नहीं पाई और वो जीवित बच गए थे.

बुराई की जलने और अच्छाई के जीवित बचने के उपलक्ष्य में और इसी घटना की याद में और प्रहलाद के जीवित बचने की ख़ुशी में हम सभी हिन्दू हर वर्ष इसी दिन होली का पर्व मनाते हैं. Holi Story 2020: Why Holi is Celebrated ? Holi Essay In Hindi.


Holi Story 2020: Holi Essay In Hindi

हिन्दू कैलेंडर या पंचांग के अनुसार Holi Story 2020 का पर्व प्रत्येक फाल्गुन महीना में पूर्णिमा के दिन होलिका दहन होता हैं. उसके अगले दिन चैत्र की प्रथमा के दिन होली खेली जाती हैं, जिसे धुलेड़ी भी कहा जाता हैं. होली दो दिवसीय पर्व हैं. पहले दिन होली जलाई जाती हैं, जिसे होलिका दहन कहते हैं दूसरे दिन एक दूसरे को रंग-अबीर-गुलाल लगा कर या रंगो से नहलाकर होली खेली जाती हैं. कई जगह फूलों से भी होली खेलने की परंपरा हैं.

Holi Story - जर्मनी देश में होली मनाते जर्मनी के लोग
Holi Story - जर्मनी देश में होली मनाते जर्मनी के लोग


होली का त्यौहार बहुत ही उमंग से परिपूर्ण होती हैं. इस दिन लोग खूब खुश रहते हैं. लोग अनेक मंडलियाँ बनाकर गीत-संगीत बजाते हुवे दिन भर नाचा-गाया करते हैं और एक दूसरे को अनेक प्रकार के रंग लगाए जाते हैं. होली की विशेषता इसी बात से लगाई जा सकती हैं की यह त्यौहार एक सामाजिक खेल की तरह हैं जिसमे सब कोई एक दूसरे के साथ मिलकर इस खेल को खेलते हैं. दिवाली खेली नहीं जाती हैं लेकिन होली खेली जाती हैं.

Holi Story 2020 के शुभ अवसर पर सभी कोई अपनी आपसी दुश्मनी भुला कर एक दूसरे को गले लगाता हैं. सभी कोई अपनी-अपनी तरफ से एक दूसरे को रंग-गुलाल तथा मिष्ठान का वितरण करते हैं. होली को विभिन्न नामो से भी जाना जाता हैं. साथ ही अलग-अलग प्रथाएं और मनाने की परम्पराएँ भले ही प्रचलित हो लेकिन सबका उद्देश्य एक ही रहता हैं. की हमसब को आपसी द्वेषों को जला कर अपने दोस्तों और रिश्तों को हाथ फैला कर गले लगाना चाहिए और सबके साथ मिलकर पुरे उत्साह के साथ होली मनाना चाहिए और प्रहलाद की भाँति एक अच्छा व्यक्ति बनना हैं. Holi Story 2020.

Holi Story 2020 कैसे मनाया जाता हैं होली 

पुरे भारत में खास कर उत्तर भारत में पुरे उत्साह के साथ होली के उत्सव को मनाया जाता हैं. अपनी संस्कृति और परंपरा अनुसार अनेक जगह होली मनाने के सबके अपने-अपने अलग और एक खास अंदाज होता हैं. ब्रज, वृन्दावन, मथुरा, या गोकुल की होली देखने से दूर-दूर से पर्यटक आते हैं. इन जगहों पर यह पर्व कई दिनों तक मनाया जाता हैं. Holi Story 2020: Why Holi is Celebrated ? Holi Essay In Hindi.




*लट्ठमार होली :

सबसे प्रसिद्ध और आकर्षक होली ब्रज की लट्ठमार होली होती हैं. ब्रज के इस होली में एक ऐसी प्रथा हैं की जिसमे परुष महिलाओं पर रंग डालते हैं और महिलाएँ उन्हें लट्ठ से मारती हैं. यह होली बहुत ही प्रसिद्ध हैं, जिसे देखने विदेशी पर्यटक बहुत आते हैं. यह लट्ठमार होली फाल्गुन माह की शुक्ल पक्ष की नवमी को मनायी जाती हैं. कहा जाता हैं की यह होली द्वापर युगे के महाभारत काल में भगवान श्री कृष्ण के समय से ही ग्वालो और गोपियों के बिच में खेली जाती रही हैं और आज भी ठीक उसकी पूर्णवर्ती होती हैं. जिससे की हमारा संस्कृति और परम्परा जीवित हैं और आने वाले समय के लिए सुरक्षित भी हो रही हैं. इस लट्ठमार होली को देखने के लिए  ताँता लगा रहता हैं। भारत के साथ-साथ विदेशो में भी यह लट्ठमार होली बहुत प्रसिद्द हैं. Holi Story 2020.




*रंगपंचमी का पर्व "प्रसिद्ध गैर वाली होली" :

गैर वाली होली मुख्यतः मध्य भारत के मध्यप्रदेश राज्य के इंदौर शहर में खेली जाती हैं. यह खेल रंगपंचमी के दिन खेला जाता हैं जो की होली के दिन से पांच दिन बाद आता हैं. इस पर्व में सभी मोहल्ले के पुरुष एक जगह एकत्र होते हैं फिर ढोल-नगाड़े के साथ गाते-नाचते होली खेलते अपने-अपने मोहल्लो से शहर के मध्य स्थान राजवाड़ा पर एकत्रित होते हैं और इस दिन वहाँ पर टैंकरों में रंग भर के उनको वहाँ एकत्र हुवे सभी लोगो पर बरसाया जाता हैं. पूरा शहर इकठ्ठा होकर एक साथ होली खेलता हैं. इस दिन के लिए कई दिनों पहले राजवाड़ा के आसपास के घरो और दुकानों को प्लास्टिक के बड़े-बड़े कवर से ढक दिया जाता हैं ताकि रंग  से उन्हें बचाया जा सके.  Holi Story 2020.




* Holi Story 2020 - फाग महोत्सव :

फाल्गुन के महीने में पड़ने वाले होली के पर्व को फाग महोत्सव के नाम से भी भारत में कई जगह सम्बोधित किया जाता हैं. भारत में विभिन्न जगह ख़ास कर बिहार और उत्तरप्रदेश के गांव और छोटे शहरों में लोग मंडली बनाकर फाग महोत्सव का आयोजन करते हैं. इस फाग महोत्सव के शुभ अवसर पर सभी मंडलियाँ ढोलक-झुनझुना हरमुनिया लेकर अपने-अपने क्षेत्र के प्रसिद्ध होली का लोकगीत या भजन गाते हुवे गांव या शहर में घूमते हैं और घर-घर जाकर गाते है नाचते हैं और खूब आनंद उठाते हैं. जिसके घर के दरवाजे पर भी यह मंडली या टोली जाती हैं उस घर के लोग इन टोलियों का खूब आदर-सत्कार करते हैं और उन्हें बैठने का उचित जगह दिया जाता हैं. फिर उनके साथ गुलाल और रंग के साथ होली खेली जाती हैं और आपस में मिष्ठान का वितरण करके एक दूसरे का मुँह मीठा किया जाता हैं. Holi Story 2020.

Holi Essay In Hindi - होली के शुभ अवसर पर नृत्य मंडली
Holi Essay In Hindi - होली के शुभ अवसर पर नृत्य मंडली


होली के इस परम त्यौहार के दिन हर तरफ खुशी और प्रेम का वातावरण होता हैं. होली का पर्व एक दूसरे को जोड़ने का कार्य करता हैं. आपसी प्रेम, मिष्ठान और गीत-संगीत होली के मुख्य अंग हैं। होली आने से पहले ही बहुत लोग होली के गाने खोजने और डाउनलोड करने शुरू कर देते हैं और होली पर्व को मनाने की तैयारी में जुट-जाते हैं.  Holi Story 2020.

होली के ऊपर बॉलीवुड से लेकर भोजपुरी, इंग्लिश, तमिल, मराठी आदि विभिन्न भाषा में अनेक गाने गायको द्वारा गाए जाते हैं और होली के अवसर पर कई दिनों पहले से ही लोग इन गानो को सुनना और बजाना आरम्भ कर देते हैं. हम सभीको यह ध्यान रखना चाहिए की होली के अवसर पर कोई भी अश्लील गाना खासकर बिहारी भाइयों के अश्लील भोजपुरी गानो का पूर्णतः बहिष्कार करना चाहिए और दुसरो को भी प्रेरित करना चाहिए.


रंग की नदी बहाइये खून की नहीं 

पाश्चात्य संस्कृति और अंग्रेजी शिक्षा की देन हैं की हम सभी अंग्रेजी भाषा के साथ-साथ अंग्रेजी संस्कृति भी पूरी ईमानदारी से सिख रहे होते हैं और उस अंग्रेजी संस्कृति को हम कब से फॉलो करना शुरू कर देते हैं हमें खुद एहसास नहीं हो पाता. यह एक मानसिक दोष हैं जो लगातार किसी विषय के चिंतत या संलिप्पता की वजह से उस विषय के प्रति आसक्ति हो जाती हैं, उस आसक्ति से उसे पाने का लोभ उत्पन्न होता हैं, लोभ पूरा ना होने की वजह से क्रोध उत्पन्न होता हैं, क्रोध के उत्पन्न होने से बुद्धि का नाश हो जाता हैं, बुद्धि के नाश हो जाने से मनुष्य का सर्वनाश हो जाता हैं. Holi Story 2020.



यह ज्ञान गीता में भगवान् श्री कृष्ण ने बहुत अच्छे रूप से बताया हैं. अंग्रेजी पढ़ने या उसके विषय में चिंतन की वजह से हमें उसमे आसक्ति उत्पन्न हुई और हमने अंग्रेजी को पाना शुरू कर दिया और क्या पाया बेटी-बहनो के छोटे कपडे, मांसाहार और मदिरापान. होली भी अंग्रेजी संस्कृति की बलि चढ़ चुकी हैं. इस परम पवित्र पर्व पर आज के आधुनिक समय में रंग के नदी की जगह बकरी, मुर्गे, कबूतर अनेक प्रकार के पशु-पक्षियों के खून का नदी बहना शुरू हैं. 

होली मतलब मांसाहार यह सच हैं की खास कर उत्तर भारत में होली के दिन मांस और दारु बिक्री आसमान छू रही हैं. लाखो करोडो निर्दोष जानवरो का गला काट दिया जाता हैं होली के नाम पर क्या हम भी मुसलमान और ईसाई हो गए हैं. क्या हमें हिन्दू होने में या इसके परम्पराओं और संस्कृति से कोई गर्व होता हैं. हम आप सभी से करबद्ध प्रार्थना करते हैं Holi Story 2020 के शुभ अवसर पर मांसाहार, मदिरापान और अश्लीलता से दूर रहे और दुसरो को भी दूर रहने के लिए प्रेरित करें.   Holi Story 2020.



 Holi Story 2020: आपकी प्रतिक्रिया हमारा मार्गदशन हैं.

यदि आपको यह लेख पसंद आया तो इसे फेसबुक या ट्विटर जैसे सोशल मीडिया पर शेयर करने का कष्ट करें. शेयर बटन पोस्ट के अंत में हैं. हम आपके बहुत आभारी रहेंगे. साथ ही यदि आपके पास ऐसे ही हिंदी भाषा में कोई निबंध हो तो आप उसे हमारे साथ शेयर कर सकते हैं उसे हम आपके नाम और फोटो के साथ इस वेबसाइट पर जरूर पब्लिश करेंगे. Holi Story 2020.

 तो यह Holi Story 2020 निबंध आपको कैसी लगी अपनी प्रतिक्रिया इस निबंध के अंत में कमेंट बॉक्स में अवश्य दे. आपकी प्रतिक्रिया हमारे लिए मार्गदर्शन सामान हैं. आपके प्रतिक्रिया से हमें प्रेरणा मिलेगी और हम ऐसे ही प्रेरक कहानियाँ हमेशा खोज-खोज के आपके लिए लाते रहेंगे. Holi Story 2020: Why Holi is Celebrated ? Holi Essay In HindiHoli Story 2020, Holi Story 2020.

Makar Sankranti Kab Hai. जाते-जाते निचे कमेंट बॉक्स में अपनी प्रतिक्रिया देना न भूले और ऐसे ही आदर्श कहानीप्रसिद्ध जीवनी, अनकहे इतिहासमहाभारत की कहानी, प्रसिद्द मंदिरटॉप न्यूज़, ज्ञान की बाते प्रेरक वचन पढ़ने के लिए इस ब्लॉग को फॉलो जरूर करे.  Holi Story 2020: Why Holi is Celebrated ? Holi Essay In Hindi, Holi Story 2020, Holi Story 2020, Holi Story 2020.
इन्हे भी पढ़े -  Holi Story 2020: Why Holi is Celebrated ? Holi Essay In Hindi होली की कहानी.

Post a Comment

0 Comments